Wednesday, July 30, 2008

परिचय राग-दीपक से

मैं आपका परिचय अपने ही राग से करवाउंगा !
यह राग अनवरत मेरे अंतर्मन में बजता ही रहता है !
मैं इसे सुनता ही रहता हूँ ! आपको भी
सुनाने की कोशीश करूंगा !
शायद आप सुन पायें !

7 comments:

मग्गा बाबा said...

प्रिय दीपक ,
ईश्वर आपको सफलता दें !
मग्गा बाबा

Smart Indian said...

ஆரம்பிக்கலாமா

Smart Indian said...

आपके कमेन्ट के लिए धन्यवाद. वैसे भी सोमरस तो शुद्ध शाकाहारी ही होता है, right?
;-)
मुझे आश्चर्य हुआ कि आपने ஆரம்பிக்கலாமா का अर्थ नहीं पूछा

दीपक तिवारी said...

ஆரம்பிக்கலாமா

साहब जी अभी रात का शुरुर बाक़ी है !
सोचा दिन में बाबा से पूछ लेंगे ! अब आप ही
बता दो !

Smart Indian said...

मैंने तमिल में लिखा "आराम्बिक्कालामा" इसका अर्थ है "शुभ आरम्भ" या "श्रीगणेश" या "बिस्मिल्लाह" जैसा भी आप ठीक समझें - पर भावना शुभेच्छा की है.

योगेन्द्र मौदगिल said...

Shubhkamnaen............
पैग पर भी कुछ वार्ता जरूर रखें ताकि सरूर बना रहे

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

महाराज, कहाँ हैं आप? अब तक तो सुरूर उतर जाना चाहिए. सब कुशल-मंगल तो है न?